गुरुवार, 25 नवंबर 2010

'काफ़िर है वो जो कायल नहीं इसलाम के'

एक प्यारी सी  बात
'काफ़िर है वो जो कायल नहीं इसलाम के'

दूसरी  प्यारी बात
'लाम* के मानिंद  है गेसू** मेरे घनश्याम के,
 काफ़िर है वो जो कायल नही इसलाम के'

==============================
* उर्दू में लाम  ل   के आकार का होता है कृष्ण के बाल** भी इसी तरह मुड़े हुए थे.