गुरुवार, 2 जून 2011

अपर्णा त्रिपाठी वापस ब्लागजगत में: पलाश के फूल फिर खिलेंगे

आगे बढ़ते बढ़ते अगर सामने बड़ा गड्ढा दिखे तो उसे पार करने के लिए पीछे की तरफ जाना होता है. मगर इसका ये मतलब नही कि आगे जाने का इरादा ही छोड़ दिया. इसका मतलब होता है कि और मजबूती से हम आगे बढ़ने को है. इस दौरान मन में तमाम संशय भ्रम इत्यादि पलते है किन्तु ये सब अपनों के संबल शुभकामनाओं और आशीषों से ख़तम हो जाते है. २३ मार्च को जब अपर्णा ने अपनी लेखनी को अकेडमिक ब्रेक दिया तो कुछ ऐसी ही परिस्थितिया थी. मुझे अपनी बहन पर गर्व है कि वह इन सभी बाधाओं को सफलतापूर्वक पार करते हुए अपनी काबिलियत का लोहा मनवाया. मुझे यह बताते हुए बड़ी खुशी हो रही है कि एम् एन आई टी इलाहाबाद की सत्रीय परीक्षा में अपर्णा को ए ग्रेड मिला.
जब विपरीत परिस्थियों  में सभी फूल मुरझाने को होते है पलाश तभी अपने चटख रंग  बिखेरते हुए खिलता है. जल्द ही यह पलाश ब्लागजगत में अपने रंग बिखेरते आप सबके सामने होगा.


18 टिप्‍पणियां:

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) ने कहा…

बहुत अच्छी खुशखबरी दी आपने.
अपर्णा जी की नयी पोस्ट का इंतज़ार है.

सादर

आलोकिता ने कहा…

:) Welcome back di and congrats too

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ (Zakir Ali 'Rajnish') ने कहा…

Aparna ji Hardik Badhayi.
............
प्यार की परिभाषा!
ब्लॉग समीक्षा का 17वां एपीसोड--

Shah Nawaz ने कहा…

अपर्णा जी को सफलता बहुत बहुत मुबारक हो!

"पलाश" ने कहा…

सबसे पहले तो आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद, कि आप सभी ने मुझे याद रखा । भइया(पवन जी)ने मुझे सदैव ही उत्साहित किया चाहे वो लेखन से जुडा कार्य हो या कुछ और मगर आपको यदि धन्यवाद कहूँ तो शयद गलत होगा । जिस समय मै ब्लाग जगत से दूर थी तब भी आप सभी का स्नेह और आशीष मेरे साथ था । कोशिश करूंगी कि जो मान , प्यार आप सभी से मिला मै उसका सम्मान कर सकूँ । आप सभी से यह वादा करती हूँ कि भले ही कम लिखूँ मगर अच्छा ही लिखूँ , यही मेरी प्राथमिकता रहेगी । हमेशा की तरह आज भी आप सभी की शुभकामनाओ की मुझे आवश्यकता है । मेरी कोशिश रहेगी कि जिस विश्वास के साथ आपने मेरे वापस आने का इन्तजार किया , हम उसको बनाये रखे ।
आप सभी का शुक्रिया!!!!

ललित शर्मा ने कहा…

सुस्वागतम

एस.एम.मासूम ने कहा…

मुझे यह सुन के बहुत ही ख़ुशी हो रही है कि एम् एन आई टी इलाहाबाद की सत्रीय परीक्षा में अपर्णा को ए ग्रेड मिला. और अब अपर्णा जी कि टिप्पणी फिर से मिलने के दिन भी वापस आ गए. अपर्णा जी इमरती या एटम बोम्ब कौन सी मिठाई मिलेगी इस ख़ुशी मैं?

वन्दना ने कहा…

हार्दिक बधाई और स्वागत है।

वीना ने कहा…

पलाश की यही खासियत है...बधाई...

Sunil Kumar ने कहा…

हार्दिक बधाई और स्वागत है।

M VERMA ने कहा…

सफलता के लिये बधाई

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

बधाई और शुभकामनाएँ

यस चंचल ने कहा…

बधाई और शुभकामनाएँ

Manpreet Kaur ने कहा…

हार्दिक बधाई और स्वागत है।मेरे ब्लॉग पर आए ! आपका दिन शुब हो !
Download Latest Music + Lyrics
Shayari Dil Se
Download Latest Movies Hollywood+Bollywood

Richa P Madhwani ने कहा…

http://shayaridays.blogspot.com

prerna argal ने कहा…

mehanat rang lai,apni manjil paane ke liye badhaai sweekaren.aapki nai post ka intajaar rahegaa,





please visit my blog.thanks.

ramji ने कहा…

आप आये ब्लॉग जगत में बहारे आई , पलास बसंत में ही खिलता है....पर ये क्या जब चाहे बसंत

जब चाहे पतझड़ ... हहहः हहहहहः सुस्वागतम .....राधे राधे .....श्याम ...

ramchandra pandey ने कहा…

आप आये ब्लॉग जगत में बहारे आई , पलास बसंत में ही खिलता है....पर ये क्या जब चाहे बसंत

जब चाहे पतझड़ ... हहहः हहहहहः सुस्वागतम .....राधे राधे .....श्याम ...